ling ko bada karne ki medicine
टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies to Increase Testosterone in Hindi)

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies to Increase Testosterone in Hindi)

मनुष्य का शरीर कई तत्वों से मिलकर बना है जिनमे मेद, मांस, शुक्र, अस्थि और मज्जा प्रमुख है इन्ही तत्वों से मिलकर हमारे शरीर की आंतरिक संरचना होती है। शरीर में कई तरह के हार्मोन्स पाए जाते है जिनमे से एक हार्मोन टेस्टोस्टेरोन के नाम से जाना जाता है आज हम इस लेख में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने के आसान उपायों के बारे में बताएँगे।

टेस्टोस्टेरोन क्या होता है (What is Testosterone in Hindi)

टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) एक स्टेरॉइड हार्मोन होता है टेस्टोस्टेरोन पुरुषों का प्राइमरी हार्मोन होता है जो उनके बाल, दाढ़ी और सेक्स लाइफ आदि के लिए जिम्मेदार होता है।

यह हार्मोन पुरुष और महिला दोनों में पाया जाता है लेकिन यह हार्मोन महिलाओं की तुलना में पुरुषों में ज्यादा होता है। महिलाओं में इसकी मात्रा न के बराबर होती है यह हार्मोन पुरुषों की यौन शक्ति को बढ़ाता है।

What-is-Testosterone-in-Hindi

टेस्टोस्टेरोन पुरुषों के मांसपेशियों और हड्डियों की मजबूती के लिए बहुत जरुरी होता है जिस प्रकार पुरुषों में एस्ट्रोजन की कम मात्रा पाई जाती है। उसी तरह महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा कम पाई जाती है।

यह पुरुष और महिला में पाए जाने वाले एड्रेनल ग्लैंड (Adrenal gland) से बनता है। प्रजनन के लिए यह हार्मोन बहुत जरुरी होता है इस हार्मोन से ही पुरुषों के प्रजनन अंग (Reproductive Organs) का विकास होता है। 

यह हार्मोन रक्त कोशिका को बनाने के लिए शरीर को सिग्नल देता है। 40 की उम्र के बाद पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने लगता है इसी वजह से पुरुषों की मांसपेशिया कमजोर और पुरुषों की मर्दाना ताकत कमजोर होने लगती है। अच्छे खानपान और जीवनशैली में बदलाव करके इसके स्तर को संतुलित रखा जा सकता है। 

और पढ़ें:- मर्दाना ताकत बढ़ाने का आसान तरीका

टेस्टोस्टेरोन की कमी के लक्षण (Symptoms of Testosterone Deficiency in Hindi) 

जब पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने लगता है तो शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते है टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी के निम्नलिखित लक्षण हो सकते है:

testosterone-ki-kami-ke-lakshan

इरेक्शन की कमी होना (Lack of Erection):- 

टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने से इरेक्शन की समस्या हो सकती है। सेक्स की इच्छा में कमी होने के कारण पुरुषों के लिंग में तनाव कम हो जाता है और इरेक्शन बहुत मुश्किल के बाद आता है। 

सेक्स की इच्छा न होना (No Desire for sex):- 

यदि सेक्स की इच्छा या सेक्स ड्राइव कम हो जाती है तो टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी हो सकती है। टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी होने के कारण पुरुषों में सेक्स के प्रति इच्छा ख़त्म हो जाती है। 

वीर्य की मात्रा में कमी (Decreased Semen Volume):- 

वीर्य बनने के लिए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बहुत जरुरी होता है जब शरीर में इस हार्मोन की मात्रा कम हो जाती है तो वीर्य की मात्रा भी कम हो जाती है इससे प्रजनन क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है। टेस्टोस्टेरोन की कमी के कारण शुक्राणु की मात्रा कम हो जाती है जिससे बांझपन की समस्या हो सकती है। 

बाल झड़ना (Hair Fall):- 

टेस्टोस्टेरोन बालों के लिए बहुत जरुरी हार्मोन माना जाता है जब शरीर में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा कम हो जाती है तो बाल झड़ना शुरू हो जाता है।

थकान (Tired):- 

इस हार्मोन की कमी से शरीर में थकान महसूस होने लगती है यदि उठने बैठने में आलस महसूस हो, अचानक शरीर में सुस्ती रहने लगे और किसी काम में मन न लगे तो इसका मतलब है शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो गया है। 

मांसपेशियों का कमजोर होना (Muscle Weakness):- 

मांसपेशियों के विकास (muscle growth) के लिए टेस्टोस्टेरोन बहुत जरुरी हार्मोन होता है जब शरीर में इस हार्मोन की कमी हो जाती है तो हड्डियां और मांशपेशियां कमजोर होने लगती है।

अंडकोष का आकार छोटा हो जाता है (Testicle Size Decreases):- 

जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होता है उनके अंडकोष का आकार सामान्य आकार से छोटा होता है टेस्टोस्टेरोन की कमी के कारण पुरुषों का अंडकोष टेस्टोस्टेरोन के सामान्य स्तर वाले पुरुषों की तुलना में छोटा होता है।

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने का आसान उपाय (Easy Way to Increase Testosterone Level in Hindi)

आजकल के बेकार खान- पान और लाइफस्टाइल के कारण सेक्स लाइफ पर बुरा प्रभाव पड़ता है इससे टेस्टोस्टेरोन के स्तर में भी कमी हो जाती है तो आप कुछ आसान उपायों को अपनाकर अपने टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ा सकते हो और अपने सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते है। 

Testosterone-badhane-ke-upay

शिलाजत (Shilajit) का सेवन करें:- 

शिलाजीत हिमालय क्षेत्रों में पाया जाने वाला काला पदार्थ होता है इसमें फुल्विक एसिड (Fulvic Acid) की भरपूर मात्रा होती है जो टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। उच्च गुणवत्ता वाली शिलाजीत का उपयोग करें। शिलाजीत के फायदे बहुत होते है इससे कई तरह की सेक्स समस्या को दूर किया जा सकता है।

माका रूट (Maca Root) का सेवन करें:- 

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के तरीके में माका जड़ का सेवन भी किया जा सकता है। माका रुट का उपयोग करने से कामेच्छा को बढ़ाया जा सकता है इससे कई तरह की सेक्स समस्या को दूर किया जा सकता है। माका जड़ तनाव को कम करके टेस्टोस्टेरोन के स्तर में वृद्धि करता है। 

जस्ता और मैग्नीशियम (Zinc and Magnesium) का सेवन करें:- 

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय में जस्ता और मैग्नीशियम का उपयोग करना बहुत फायदेमंद है शरीर में जस्ता की कमी से इस हार्मोन की कमी हो जाती है टेस्टोस्टेरोन के उच्च स्तर को बनाये रखने के लिए उन चीजों का सेवन करें जो शरीर में जस्ता और मैग्नीशियम की कमी को पूरा करता है। इसके लिए आप अपने आहार में पनीर, दूध, सेम, नट, दही, मांस और मछली का सेवन करें। 

अश्वगंधा (Ashwagandha) का सेवन करें:- 

अश्वगंधा का सेवन करना टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने का सबसे अच्छा उपचार है अश्वगंधा का उपयोग प्राचीन समय से ही हर तरह की यौन समस्या को जड़ से दूर करने के लिए किया जाता है। इसका सेवन कामोत्तेजक के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। अश्वगंधा का उपयोग लिंग को बढ़ाने की दवा (penis enlargement medicine) के रूप में भी किया जाता है। 

शराब (Alcohol) का सेवन न करें:- 

शराब का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। शराब के सेवन से पुरुषों के प्रजनन अंग और उससे जुड़े हार्मोन प्रभावित होते है। इसके सेवन से टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होने लगता है इसलिए शराब, धूम्रपान या किसी भी नशीले पदार्थ का सेवन न करें। 

वजन (Weight) को कम करें:- 

अधिक वजन टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम कर देता है और इससे शरीर में वसा की मात्रा में वृद्धि होती है इसलिए यह बहुत जरुरी है की खुद को फिट रखें और अधिक वजन वाले लोगों को अपना वजन कम करना चाहिए। संतुलित आहार और एक्सरसाइज के माध्यम से अपने वजन को कम करें। 

रोजाना व्यायाम (Exercise) करें:-

व्यायाम शरीर को स्वस्थ और फिट रखता है व्यायाम करने से शरीर बीमारियों से मुक्त रहता है नियमित व्यायाम करने से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाया जा सकता है। एक्सरसाइज से वजन को भी कम किया जा सकता है रोजाना व्यायाम करने से शरीर की मांसपेशियां मजबूत बनती है। 

नींद (Sleep) पूरी लें:- 

नींद भी टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन को प्रभावित करता है। विशेषज्ञों के अनुसार रात में कम से कम 7 से 8 घंटे तक सोना जरूरी होता है क्योंकि शरीर में यह हार्मोन 70% निद्रावस्था में उत्पन्न होता है इसलिए एक वयस्क व्यक्ति को उचित नींद लेनी चाहिए। 

तनाव (Stress) से दूर रहें:-

तनाव और चिंता में ज्यादा रहने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है तनाव में रहने से कॉर्टिसोल नामक हार्मोन का स्तर बढ़ने लगता है जब यह हार्मोन शरीर में बढ़ता है तो टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर कम होने लगता है और इससे वजन भी बढ़ने लगता है और इसलिए तनाव को त्याग दें। 

डॉक्टर से परामर्श करें (Consult with doctor):-

यदि आप टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए किसी दवा की तलाश कर रहें है तो आप टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा का सेवन कर सकते है। और अगर आप किसी भी तरह की सेक्स प्रॉब्लम का सामना कर रहें है तो आप निशुल्क हमारे डॉक्टर से परामर्श कर सकते है और अपनी सेक्स समस्या को दूर करने के बेहतर उपचार की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat