रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाएं

रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाएं (How to Increase Immunity in Hindi)

शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए प्रतिरोधक क्षमता का बेहतर होना बहुत जरूरी है क्योंकि यह खतरनाक और सूक्ष्म जीवों जैसे: बैक्टीरिया (Bacteria) और वायरस (Virus) आदि से हमारे शरीर कि रक्षा करती है और हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करती है रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के उपाय के बारे में जानने के लिए इस ब्लॉग को पूरा पढ़ें। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है (What is Immunity in Hindi)

रोग प्रतिरोधक क्षमता को इंग्लिश में इम्युनिटी (Immunity) कहा जाता है इसे प्रतिरक्षा प्रणाली भी कहते है हमारे शरीर को बाहरी बैक्टीरिया और वायरस से बचाकर हमें स्वस्थ्य बनाये रखने के लिए हमारी शरीर के अंदर जो रक्षा कवच होती है उसे रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) कहा जाता है। 

यह हमारे शरीर को सुरक्षा कवच प्रदान करती है जिससे शरीर जल्दी से किसी साधारण बीमारी की चपेट में नहीं आता। प्रतिरक्षा प्रणाली सही होती है तो हमारा शरीर जल्दी से किसी भी बीमारी से ग्रस्त नहीं होता है।

लेकिन यदि रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाये तो मौसम बदलने के साथ ही सर्दी-जुकाम और बुखार जैसी समस्या हो जाती है। कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) से बचे रहने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत और बेहतर होना बहुत जरूरी है।

इम्युनिटी कम होने के लक्षण (Symptoms of Low Immunity in Hindi)

कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोगों को बहुत जल्दी इन्फेक्शन होने का डर बना रहता है रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के निन्मलिखित लक्षण होते है:-

  • सीने में दर्द होना।
  • शरीर में कंपकंपी होना।
  • थकान जल्दी महसूस होना।
  • हमेशा बेचैनी बनी रहना।
  • जुकाम और बुखार होना। 
  • सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी होना। 
  • भूख न लगना।
  • उल्टी होना या जी मिचलाना।
  • गहरी सांस लेने में दिक्कत होना। 
  • सिर में दर्द होना।
  • निमोनिया का होना।
  • स्किन इन्फेक्शन होना। 

इम्युनिटी कम होने के कारण (Causes of Low Immunity in Hindi)

प्रतिरक्षा प्रणाली कम होने के कई कारण हो सकते है यह हमारे खाने पीने से लेकर दिनचर्या तक से प्रभावित हो सकता है। चलिए जानते है इम्युनिटी कम होने के कारण:-

  • जन्म से ही प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना। 
  • धूम्रपान करना।
  • एचआईवी एड्स (HIV Aids) का होना।
  • शराब का सेवन करना।
  • कुपोषण का होना।
  • मधुमेह का होना। 
  • संक्रमण के कारण।
  • कैंसर रोग का होना। 
  • शरीर में पोषक तत्वों की कमी का होना।
  • उम्र का बढ़ना।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के तरीके (Ways to Increase Immune System in Hindi)

शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को सही से काम करने के लिए बहुत से पोषक तत्वों की जरूरत होती है इम्यून सिस्टम (immune system) को बढ़ाने के लिए सबसे पहले अपनी जीवनशैली में बदलाव करना बहुत जरुरी है चलिए जानते है इम्युनिटी को बढ़ाने के बेहतर तरीके और नस्खे (Ways and tips to increase immunity) जिससे इम्युनिटी को आसानी से बढ़ाया जा सकता है:-

How to Increase Immunity in Hindi

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए अपनी जीवनशैली में बदलाव करें (Change Your Lifestyle To Increase Immunity in Hindi):- 

साफ सफाई का ध्यान रखें:-

कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को साफ सफाई का बेहद ध्यान रखना चाहिए ताकि वह स्वस्थ बने रहे। खाना बनाने या खाना खाने से पहले और बाद में अपने हाथों को अच्छे से जरूर धुलें। सब्जियों और फलों को धुलकर ही उनका सेवन करें। किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद और कूड़ा – कचरा छूने के बाद अपने हाथों को साबुन से अच्छे से धुलें। 

धूम्रपान या शराब का सेवन न करें:-

यदि रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो तो धूम्रपान और शराब का बिल्कुल सेवन न करें क्योंकि इससे इम्यून पावर (Immune power) कम हो जाता है इसलिए धूम्रपान शराब या किसी भी तरह से नशीले पदार्थ का सेवन न करें। 

वजन कम करें:-

शरीर में ज्यादा चर्बी के जमा होने के कारण भी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है इसलिए अपने शरीर की चर्बी और मोटापे को कम करें ताकि इम्युनिटी बढ़ सके। 

पर्याप्त नींद लें:-  

नींद की कमी के कारण इम्युनिटी पर बुरा प्रभाव पड़ता है पर्याप्त नींद न लेने की वजह से रोग प्रतिरोधक क्षमता का सबसे प्रमुख हिस्सा – सफ़ेद रक्त कोशिकाओं में सामान्य उत्पादन में कमी आ जाती है इसलिए कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेना बेहद जरुरी है।

रोजाना व्यायाम करें:-

शरीर को फिट रखने के लिए एक्सरसाइज सबसे बेहतर तरीका होता है रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में एक्सरसाइज अहम भूमिका निभाता है। व्यायाम करने से एंडॉर्फिन हार्मोन रीलीज होता है इससे थकान में कमी होती है इसलिए कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए। 

तनाव में न रहें:-

चिंता या तनाव बहुत सी बीमारियों का कारण बनता है और यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर बनाता है तनाव और चिंता को कम करने के लिए योग करें। यह इम्युनिटी को बढ़ाने का सबसे अच्छा नुस्खा (best tips to increase immune system) है। 

संक्रमित लोगों के संपर्क में न आएं:-

यदि कोई व्यक्ति किसी संक्रमित बीमारी से पीड़ित है तो उसके संपर्क में आने से बचें और बीमार व्यक्ति के खाने पीने की चीजें भी शेयर न करें।

और पढ़ें:- टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies to Increase Testosterone in Hindi)

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ (Foods That Increase Immune System in Hindi)- 

रोग-प्रतिरोधक-क्षमता-बढ़ाने-के-तरीके

खट्टे फल का सेवन करें:-

फ्लू और सर्दी जुकाम होने के कारण शरीर में सफ़ेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी हो जाती है इसलिए विटामिन C का सेवन करें क्योंकि विटामिन C रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। विटामिन C को सफ़ेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन बढ़ाने के लिए बेहतर माना जाता है क्योंकि यह किसी भी बाहरी बीमारी से लड़ने में हमारी मदद करता है।

लहसुन का उपयोग करें:-

लहसुन कई तरह की बिमारियों से छुटकारा पाने में हमारी मदद करता है। यह हमारे दिमाग और शरीर दोनों के लिए फायदेमंद होता है। इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए लहसुन बहुत उपयोगी होता है इसलिए अपने भोजन में इसका उपयोग जरूर करें। पुरुषों के लिंग को बढ़ाने के उपाय में लहसुन बहुत उपयोगी होता है।

लाल शिमला मिर्च का सेवन करें:-

लाल शिमला मिर्च इम्युनिटी को बढ़ाने में बहुत मददगार होता है इसमें खट्टे फल के मुकाबले दोगुना विटामिन C होता है यह इम्यून पावर को बढ़ाने के साथ साथ त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। यह बीटा कैरोटीन का एक समृद्ध स्रोत होता है यह आंखों और त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। 

बादाम का सेवन करें:- 

सर्दी जुकाम को रोकने की बात आती है तो विटामिन E की बात की जाती है क्योंकि विटामिन E स्वस्थ रोग प्रतिरोधक क्षमता की कुंजी होती है। यह वसा में घुलनशील विटामिन होता है बादाम इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए बहुत उपयोगी होता है। 

ग्रीन टी का सेवन करें:-

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए ग्रीन टी बहुत मददगार होता है ग्रीन टी में एंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर होता है यह वजन और मोटापे को कम करने और इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करता है।

पपीता का सेवन करें:-

इम्यून पावर (Immune Power) को बढ़ाने के लिए पपीता बहुत उपयोगी फल होता है इसमें विटामिन C पाया जाता है इसमें पपैन नामक पाचक एंजाइम पाया जाता है इसमें सूजन-रोधी प्रभाव होता हैं। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए पपीता का सेवन जरूर करें। 

दही का सेवन करें:-

इम्युनिटी को बढ़ाने में बहुत उपयोगी होता है दही में जीवित और सक्रिय बैक्टीरिया होते है यह बैक्टीरिया शरीर को बीमारियों से लड़ने में रोग प्रतिरोधक क्षमता को उत्तेजित करते है आप खाने में सादे दही का सेवन करें। 

इम्युनिटी को बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा (Ayurvedic Medicine to Increase Immunity in Hindi):- 

बाजार में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की दवा (Immunity boosting medicine) और उत्पाद उपलब्ध है लेकिन आप किसी भी तरह की दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा (Ayurvedic medicine to increase immune power) का सेवन करें क्योंकि आयुर्वेदिक दवा का शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। 

अब आपको पता चल गया होगा कि स्वस्थ रहने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का बेहतर होना कितना जरुरी होता है। इस ब्लॉग को पढ़ने के बाद आप जान गए होंगे कि इम्यून पावर को कैसे बढ़ाया जा सकता है। अगर आप अपने स्वास्थ्य से संबंधित समस्या या अपने यौन जीवन में किसी तरह की सेक्स समस्या का समाधान (sex problem solution) जानना चाहते है तो आप हमारे डॉक्टर से परामर्श कर सकते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *