कैसे बढाएं लिंग का आकार?

Ling ka chota aakar किसी भी पुरूष के सुखमय विवाहित जीवन को बर्बाद कर सकता है क्योंकि कुछ महिलाओं को इस बात की शिकायत रहती है कि उनके पति उन्हें चरम सुख नहीं दे पाते हैं। इस बात को लेकर उनके पति भी परेशान रहते हैं और उन्हें ऐसे तरीकों की तलाश रहती है, जिसके माध्यम से वह अपने लिंग के आकार को बढ़ा (Penis Enlargement) सकें ताकि वे अपनी पत्नियों की इस शिकायत को दूर कर सकें।

वैज्ञानिक तौर पर, प्रत्येक पुरूष के लिंग की औसतन लंबाई 4 से 5 इंच होती है, जो उत्तेजित होने पर 6 इंच तक बढ़ सकती है। लेकिन, ऐसे बहुत सारे पुरूष हैं, जिसके लिंग का आकार काफी कम (अर्थात् 2-3 इंच) तक ही होता है। ऐसे पुरूष इस बात को लेकर काफी तनावग्रस्त रहते हैं और कई बार उन्हें इसकी वजह से अपमानित भी होना पड़ता है।

इसी समस्या को ठीक करने के तरीके को ling k aakar ko bdhana  (लिंग वर्धन) कहा जाता है, जिसमें पुरूष के लिंग को सही आकार प्रदान करके उसके पेनिस रोग को ठीक करना है।

ling varadhi k ayurvedic upchar

लिंग के आकार कम होने के मुख्य कारण

ऐसी आम धारणा है कि जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे उसके स्वास्थ संबंधी परेशानियां भी बढ़ने लगती हैं। यह बात पुरूष के लिंग के आकार पर भी लागू होती है, जो विभिन्न तत्वों के कारण कम हो जाती है।

यदि किसी purush k ling ka aakar  कम है, तो ऐसा इन 5 वजहों से हो सकता है, जो इस प्रकार हैं-

1. अधिक उम्र का होना- जब किसी पुरूष की उम्र बढ़ जाती है तो उसका शरीर कमजोर होता है और उसके शरीर के अंगों की कार्यक्षमता में भी कमी आ जाती है।

यह बात लिंग पर भी लागू होती है और इसका आकार उम्र के बढ़ने के साथ-साथ कम हो जाता है।


2. वजन का बढ़ना- जिस व्यक्ति का वजन अधिक होता है, उसे स्वास्थ संबंधी कई सारी परेशानियां होने की संभावना रहती है।

ऐसा लिंग के आकार के संदर्भ में भी होता है और अधिक वजन का असर इस पर भी पड़ता है।


3. प्रोस्टेट सर्जरी को कराना- लिंग का आकार उस स्थिति में भी हो जाता है, जब किसी पुरूष ने प्रोस्टेट सर्जरी कराई होती है।

प्रोस्टेटे सर्जरी को मुख्य रूप से प्रोस्टेट कैंसर अर्थात् पौरूष ग्रंथि के कैंसर का इलाज करने के लिए किया जाता है।


4. पेरोनी रोग का होना- पेरोनी (Peyronie Disease) को आम भाषा में घुमावदार लिंग की बीमारी कहा जाता है, जो लिंग के भीतर रेशेदार ऊतक के विकसित होेने के कारण होता है।

जो व्यक्ति इस रोग से पीड़ित होता है, उसमें लिंग के आकार के कम होने की संभावना अधिक रहती है।


5. ध्रूमपान का करना- यदि कोई पुरूष ध्रूमपान अधिक मात्रा में करता है, तो उसका दुष्प्रभाव उसकी सेहत पर पड़ सकता है।

 ध्रूमपान

लिंग का कम आकार ध्रूमपान का परिणाम भी हो सकता है, इसी कारण किसी भी पुरूष को ध्रूमपान नहीं करना चाहिए।

लिंग के आकार को कैसे बढ़ाया जा सकता है?

जिस पुरूष के लिंग का आकार कम होता है, वह इसके आकार को बढ़ाने के तरीकों की तलाश में रहता है। वे लिंग के आकार और लंबाई को बढ़ाना चाहता है ताकि वह लिंग समस्या का समाधान कर सके।

यदि कोई व्यक्ति लिंग के कम आकार से परेशान है, तो वे इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण तरीकों को अपना सकता है, जो इस प्रकार हैं-

  • दवाई लेना- लिंग के आकार को बढ़ाने में दवाई को भी लिया जा सकता है।
ling bdhane ki dawa

ये दवाईयां लिंग में टिशू को बढ़ाने में सहायक होती हैं, जिसकी वजह से उसके आकार में बढ़ोतरी होती है।

अत: लिंग के कम आकार से पीड़ित पुरूष ayurvedic dawa se ling samsiya से निजात पा सकते है।

  • क्रीम का इस्तेमाल करना- आज कल बाजार में लिंग वर्धक काफी सारी क्रीम मौजूद हैं।

इस प्रकार लिंग के कम आकार से पीड़ित पुरूष इन क्रीमों का इस्तेमाल कर सकता है।

cream

पेनिस एनलार्जमेंट(penis enlargement) सर्जरी के नुकसान क्या हैं?

निश्चित रूप से, लिंग सर्जरी लिंग की समस्या का समाधान करने का सर्वोत्तम तरीका है, लेकिन इसके बावजूद इसके कुछ जोखिम भी होते हैं, जिनकी जानकारी इस सर्जरी को कराने वाले पुरूष को होनी चाहिए।

यदि किसी व्यक्ति ने पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी को कराया है, तो उसे ये 5 जोखिम हो सकते हैं-

  • मांसपेशियों में दर्द होना- कई बार ऐसा देखा गया है कि लिंक के आकार को बढ़ाने की सर्जरी के बाद पुरूष को थोड़ी परेशानी होती है।
मांसपेशियों में दर्द होना

ऐसी स्थिति में पुरूष के लिंग की मांसपेशियों में दर्द होता है और इसके लिए उसे दर्द-निवारक दवाईयों का सहारा लेना पड़ता है।

  • पेट में दर्द होना- कुछ पुरूषों को पेनिस एनलार्जमेंट (penis enlargement) सर्जरी कराने के बाद पेट दर्द की शिकायत रहती है।

हालांकि, इस परेशानी को मेडिकल सहायता से ठीक किया जा सकता है।

  • उच्च रक्तचाप होना- लिंग सर्जरी के बाद पुरूष के शरीर की कार्यक्षमता पूरी तरह से बदल जाती है।

पेनिस एनलार्जमेंट के बाद पुरूष को उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) की समस्या रहने लगती है और उस स्थिति में उसे बी.पी की दवाई लेनी पड़ती है।

  • पेशाब का बार-बार आना- पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी का असर पुरूष के मूत्राशय पर भी पड़ता है।

ling ke aakar bdhane की सर्जरी की वजह से पुरूष को बार-बार पेशाब करना पड़ता है।

  • कमजोरी महसूस होना- लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी के असर पुरूष की शारीरिक क्षमता पर भी पड़ता है।

ऐसी स्थिति में यदि कोई पुरूष इस समस्या से पीड़ित है तो उसे इसकी सूचना डॉक्टर को देनी चाहिए और इसका इलाज जल्द से जल्द शुरू कराना चाहिए  ताकि उसे कोई गंभीर बीमारी न हो। अधिक जानकारी के लिए आप हमारे डॉक्टर से विचार विमर्श कर सकते है click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *