pregnancy me sambandh bana sakte hai ya nahi

क्या गर्भावस्था के दौरान यौन संबंध बनाना सुरक्षित होता है (Is it safe to have sex during pregnancy)

गर्भावस्था के समय पुरुष और महिला अकसर सेक्स करने में कुछ परेशानियों के शिकार होते है जैसे क्या इस वक़्त सेक्स करने से बच्चे को तो कोई नुकसान नहीं होगा, इस समय सेक्स की किस स्थितियों को नहीं अपनाना चाहिए और ऐसे समय में गर्भपात की समस्या तो नहीं होगी आदि। यह सभी सवाल मन में आते है। चलिए जानते है क्या गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना सुरक्षित होता है या नहीं। पूरी जानकारी के लिए इस ब्लॉग को ध्यान से पढ़ें। 

गर्भावस्था (Pregnancy) हर महिला के लिए एक नाजुक समय होता है। गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने खानपान के साथ साथ शारीरिक और मानसिक गतिविधियों को लेकर कई तरह कि सावधानियां बरतनी होती है।

यौन सम्बन्ध बनाते समय महिलाओं को विशेष सावधानी का ध्यान रखना चाहिए। थोड़ी सी भी लापरवाही माँ और बच्चे दोनों के लिए हानिकारक हो सकता है। गर्भावस्था के समय यौन सम्बन्ध बनाना तब तक सुरक्षित है जब तक गर्भवती महिला स्वस्थ हो। 

क्या गर्भावस्था के समय सेक्स करना उचित होता है?

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना नुकसानदायक नहीं होता है सामान्य गर्भावस्था में आप प्रसव होने तक शारीरिक सम्बन्ध बना सकते है। गर्भावस्था के समय लोगों में कई तरह से संदेह होते है ऐसे में आपको डॉक्टर से खुलकर बात करनी चाहिए। गर्भावस्था के दौरान यौन सम्बन्ध बनाने से शिशु को कोई नुकसान नहीं होता है क्योंकि शिशु माँ कि कोख में एमनीओटिक बैग में सुरक्षित रहता है। 

pregnancy kya hai

गर्भावस्था में यौन संबंध सुरक्षित है या नहीं यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस प्रकार का यौन सम्बन्ध बना रहे है या कोनसी सेक्स स्थिति को अपना रहे है। यदि आपको कोई यौन समस्या न भी हो तो भी आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेना चाहिए।

और पढ़ें:- पुरुष बांझपन (Male infertility) के लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज

गर्भावस्था में यौन संबंध कब नहीं बनाना चाहिए? 

गर्भावस्था में यौन सम्बन्ध बनाना सुरक्षित होता है जब तक डॉक्टर सेक्स के लिए मना न करें। कभी कभी कुछ स्वास्थ्य संबंधी स्थितियों के कारण डॉक्टर आपको यौन सम्बन्ध बनाने के लिए मना करते है। वो स्थितियों यह हो सकती है जैसे:-

  • अगर पहला बच्चा समय से पहले हुआ हो।
  • यदि पानी की थैली फट गयी हो। 
  • यदि गर्भपात हुआ हो। 
  • अगर अचानक योनि स्राव होने लगे।
  • यदि गर्भाशय ग्रीवा सामान्य न हो या फैली हुई हो।
  • यदि गर्भ में जुड़वा या उससे अधिक भ्रूण हों।
  • यदि महिला या पुरुष में से किसी एक को यौन सम्बन्धी समस्या हो तो। 
  • यदि गर्भावस्था के 37वें हफ्ते से पहले ही प्रसव होने की सम्भावना बढ़ जाए।
  • यदि योनि से रक्तस्राव या फिर ऐंठन होने की समस्या हो।
  • यदि प्लेसेंटा प्रिविया (इस स्थिति में तेज गति से रक्तस्राव होने के कारण होने वाले बच्चे और माँ दोनों को खतरा होता है) की समस्या हो। 

क्या गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना चाहिए? 

pregnancy me kya nahi khana chahiye

गर्भावस्था के दौरान पहले तीन महीने में सेक्स:

डॉक्टर के अनुसार पहली तिमाही के दौरान सेक्स करना सुरक्षित माना जाता है यह महिला और उसके बच्चे के लिए बेहतर माना जाता है क्योंकि प्रकृति ने महिला के शरीर को अनोखा कवच दिया हुआ है जो शिशु को सुरक्षा प्रदान करता है यह कवच शिशु की गर्भाशय ग्रीवा द्वारा होने वाले संक्रमण से रक्षा करता है।  

गर्भावस्था में दूसरी तिमाही के दौरान सेक्स:

दूसरी तिमाही के दौरान में औरतों को ज्यादा आराम महसूस होता है और वह सेक्स के लिए अधिक उत्तेजित होती है हालांकि इस समय सेक्स करने में थोड़ी असुविधा महसूस होती है लेकिन इस दौरान पेट पूरी तरह नहीं निकला हुआ होता है इसलिए यह समय सेक्स के लिए ज्यादा सुविधाजनक होता है। 

गर्भावस्था में तीसरी तिमाही के दौरान सेक्स: 

तीसरी तिमाही के दौरान सेक्स करने में असुविधा होती है। यह समय सेक्स के लिए बिल्कुल ठीक नहीं होता है क्योंकि इस दौरान पेट पूरा निकल जाता है और वजन बढ़ने के कारण थकान और असुविधा महसूस होती है। 

और पढ़ें:- फोरप्ले क्या है? फोरप्ले करने का तरीका और इसके फायदे

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के फायदे (Benefits of having sex during pregnancy)

स्वस्थ गर्भावस्था के समय सेक्स करना माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने के बहुत फायदे होते है जो निम्नलिखित प्रकार के हो सकते है:

garbhavastha me sex ke fayde

रक्त परिसंचरण में सुधार (Improve blood circulation):- 

गर्भावस्था के समय शिशु और माँ की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए खून की आपूर्ति दोगुनी हो जाती है लेकिन रक्त परिसंचरण कम होने से यह प्रक्रिया रुक जाती है। गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद मिलती है।

गर्भावस्था में सेक्स की मदद से हॉर्मोन्स रिलीज होता है और शिशु तक ऑक्सीजन और न्यूट्रिशन पहुँचने में सहायता मिलती है जिससे शिशु का विकास होता है। 

प्रतिरोधक क्षमता में सुधार (Improve Immunity):- 

गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में काफी बदलाव आता है जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है। गर्भावस्था में सेक्स करने से प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है। यौन संबंध से एंटीबॉडी के स्तर में सुधार होता है जिससे प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और महिला को गर्भावस्था के समय सर्दी-खांसी जैसी समस्या नहीं होती है। 

रक्तचाप में सुधार (Improve Blood Pressure):- 

गर्भावस्था के समय सेक्स करने से रक्तचाप का स्तर सामान्य रहता है। यह गर्भवती औरतों के लिए बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि अधिक रक्तचाप के कारण महिला को प्रीक्लेम्पसिया का सामना करना पड़ता है। जो की गर्भवती महिला के लिए सही नहीं होता है इसलिए गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना उचित माना जाता है। 

तनाव में कमी (Reducing Stress):-

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से तनाव को दूर किया जा सकता है। इससे एंडोर्फिंस (endorphins) नामक हार्मोन रिलीज होता है जिसके कारण माँ और शिशु को खुशी का एहसास होता है सेक्स करने से मानसिक तनाव कम होता है जिससे नींद अच्छी आती है। 

पेल्विक एरिया को मजबूती मिलती है (Pelvic Area becomes Stronger):-

गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से पेल्विक एरिया को मजबूती मिलती है। गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में यौन सम्बन्ध बनाने से पेल्विक एरिया (pelvic area) की मांसपेशियां मजबूत बनती है। इससे महिला को नॉर्मल डिलीवरी के दौरान मदद मिलती है और कठिनाई का सामना कम करना पड़ता है।

यदि आप इस विषय पर और अधिक जानकारी चाहते है तो आप हमारे डॉक्टर से परामर्श कर सकते है। और अगर आप किसी तरह के सेक्स समस्या का सामना कर रहें है तो आपको आयुर्वेदिक सेक्स पावर कैप्सूल और उपचार का ही सेवन करना चाहिए क्योंकि आयुर्वेद में किसी भी बीमारी को जड़ से ख़त्म करने की क्षमता होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *